Durlabh kashyap biography in hindi

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Durlabh kashyap biography in hindi, durlabh kashyap kaun tha, durlabh kashyap story, family, durlabh kashyap death photo, durlabh kashyap age, durlabh kashyap family photo, durlabh kashyap story video, durlabh kashyap ki history, durlabh kashyap ujjain, durlabh kashyap gangster, date of birth

हेलो दोस्तों आज हम बात करेंगे दुर्बल कश्यप के जीवन परिचय durlabh kashyap biography in hindi के बारे में कौन था दुर्लभ कश्यप कहां का रहने वाला था फैमिली में कौन कौन था दुर्लभ कश्यप अपराध की दुनिया में आने का कारण durlabh kashyap ki history के बारे के बारे में इस आर्टिकल में जानेंगे दुर्लभ कश्यप की पूरी कहानी

durlabh Kashyap kaun tha, कौन था दुर्लभ कश्यप

दुर्लभ कश्यप एक खूंखार अपराधी था मध्य प्रदेश का दुर्लभ कश्यप मध्य प्रदेश के उज्जैन का रहने वाला था दुर्लभ पर कई सारे मामले दर्ज थे वह अपराध करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेता था। दुर्लभ अवैध हथियार किसी को जान से मारने की धमकी और हत्या करने का प्रयास इन सभी मामलों से जुड़ा हुआ था।

दुर्लभ कश्यप अलग स्टाइल में रहता था दुर्लभ माथे में लाल का टिक्का काली कुर्ती गले में गमछा आंखों में सुरमा यह दुर्बल कश्यप की एक पहचान थी दुर्लभ का एक बहुत बड़ा गैंग था जो उन्होंने नाम कोहिनूर नाम से बुलाया करते थे दुर्लभ अपनी छोटी सी उम्र में कैसे अपराध की दुनिया में आ गया और अपनी जान से हाथ धो बैठा।

दुर्लभ कश्यप कि हत्या 20 साल की उम्र में हो गई थी इसीलिए कहते हैं जुर्म की दुनिया ज्यादा बड़ी नहीं होती है छोटी सी होती है. दुर्लभ कश्यप अगर अपराध की दुनिया में ना आता तो इस धरती पर अभी जीवित होता। और अपने परिवार के साथ खुशी-खुशी रहता।

Durlabh kashyap ka photo

Durlabh Kashyap biography in hindi

दुर्लभ कश्यप जीवन Durlabh kashyap biography in hindi

नामदुर्लभ कश्यप
उपनामकोहिनूर
आयु, Age20 साल
जन्मदिन, date of birth8 नवंबर 2000
गृह नगरउज्जैन, मध्य प्रदेश (भारत)
जन्म स्थाननेदुमुडी, त्रावणकोर (अब आलप्पझा, केरल, भारत)
पिता का नाममनोज कश्यप (सरकारी स्कूल के टीचर)
माता का नामपदमा
धर्महिंदू धर्म
नागरिकताभारतीय
जातिब्राह्मण जात
आंखों का रंगभूरा रंग
लंबाई5 फुट 10 इंच
बालों का रंगकाला
मृत्यु, death7 सितंबर 2020
व्यवसायगैंगस्टर, हत्यारा, कुख्यात अपराधी
शौकबिल्ली पालना
वजन59 किलोग्राम
दुर्लभ कश्यप पर फिल्मलायन ऑफ उज्जैन
मुख्य किरदारजय रंधावा (पंजाबी अभिनेता)
Sachin pilot biography in Hindi

Durlabh Kashyap biography in Hindi, दुर्लभ कश्यप जीवन परिचय, दुर्लभ कश्यप कहानी

दुर्लभ कश्यप मध्य प्रदेश के उज्जैन शहर में 8 नवंबर 2000 को जन्म हुआ अपनी छोटी सी उम्र में अपराध की दुनिया में कदम रखा उस टाइम उनकी उम्र 16 वर्ष थी लेकिन दुर्लभ का एक फेसबुक पेज भी था जिसमें कातिल अपराधी कुख्यात बदमाश लिखा हुआ था। उन्होंने एक लाइन लिखी हुई थी कोई भी विवाद हो हमसे संपर्क करें अभी दुर्बल कश्यप की ऑफिशियल अकाउंट किसी भी सोशल मीडिया पर मौजूद नहीं है।

दुर्बल कश्यप के पिता सरकारी स्कूल के टीचर हैं और उनकी मां एक व्यापारी थी दुर्लभ कश्यप अपने पिता के इकलौते बेटे थे। दुर्लभ कश्यप हिस्ट्रीशीटर है। हिस्ट्रीशीटर नाम पुलिस के द्वारा अपराधियों के लिए प्रयोग में लिया जाने वाला शब्द है। Lawrence Bishnoi

यह नाम पुलिस उनके पीछे जोड़ती है जो अपराधों में शामिल रहा हो और काफी सारे पुलिस रिकॉर्ड में उनके मामले दर्ज हो उन्हीं को पुलिस हिस्ट्रीशीटर के नाम से बुलाती है। दुर्लभ कसम ज्यादातर अपने फेसबुक अकाउंट के जरिए अपनी दहशत फैला तथा उनकी एक बहुत बड़ी गैंग थी। वह सोशल मीडिया के द्वारा जान से मारने की धमकी डराना धमकाना का काम करते थे।

उनके गैंग में कुछ लड़के नाबालिक थे जो दुर्बल कश्यप के साथ उनके अपराधों में उनका साथ देते थे दुर्बल कश्यप उज्जैन शहर में अपराध करके अपना डर फैलाने की कोशिश कर रहा था दुर्बल अलग स्टाइल में रहते थे माथे पर लाल टीका काला कुर्ता गले में गमछा आंखों में काजल यही उनकी एक पहचान थी।

कैसे बना दुर्लभ कश्यप गैंगस्टर durlabh Kashyap gangster history

दुर्लभ कश्यप 2018 अपने दहशत को फैलाने के लिए एक फेसबुक पेज बनाया उस पेज पर दुर्लभ पोस्ट करना शुरू किया उन पोस्टों में धमकी देना जान से मारना ऐसे कुछ शब्द हुआ करते थे। उस वक्त दुर्लभ कश्यप के साथ उनके गैंग में 23 सदस्य पुलिस ने गिरफ्तार किए थे। पुलिस ने गिरफ्तार तब किया जब दुर्लभ कश्यप और उनके साथी सोशल मीडिया के जरिए अपनी दहशत फैलाने की कोशिश कर रहे थे। cricketer Manav Suthar biography in Hindi

पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया था अब उनके साथ कुछ नाबालिक लड़के भी शामिल थे। दुर्बल कश्यप ने भी बहुत कम उम्र में अपराध की दुनिया में अपने पांव जमा लिए थे इतनी कम उम्र में उज्जैन में बहुत सारे अपराधों को अंजाम दे चुका था।

दुर्लभ कश्यप की गैंग में धीरे-धीरे लड़के जोड़ने लगे जिनमें से कुछ नाबालिक थे जैसे-जैसे गैंग बड़ी होती गई उनके अपराध करने के भी मामले बढ़ते गए और एक गैंगस्टर बन गया दुर्बल कश्यप। दुर्लभ की गैंग में धीरे-धीरे कर कर 100 से ज्यादा लोग शामिल हो गए थे जिसमें अधिकतर नाबालिक लड़के थे। क्योंकि दुर्लभ कश्यप सोशल मीडिया के जरिए फेमस हो गया और उनके साथ उनकी गैंग में लड़के जुड़ते गए

दुर्लभ ने 2018 में अपनी 17 साल की उम्र में अपने फेसबुक पेज पर एक पोस्ट डाली जिससे युवाओं के मन में तहलका मच गया लोग उनके फैन हो गए और उनके साथ जोड़ने लगे।

दुर्लभ कश्यप गिरफ्तार कैसे हुए

दुर्लभ ने अपनी 17 साल की उम्र में अपराध करना शुरू कर दिया दुर्लभ अपराध करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेता था दुर्लभ फेसबुक और व्हाट्सएप के जरिए अपराध के कामों को अंजाम देता रहता था।

दुर्लभ कश्यप कम उम्र के लड़कों का हीरो बन चुका था लोगों ने इतना ज्यादा पसंद करने लगे कि उनके गैंग में शामिल होना पसंद करने लगे ऐसे धीरे-धीरे करके उनके गैंग में 100 से ज्यादा लोग शामिल हो गए जिसमें ज्यादातर नाबालिग थे। इसके बाद दुर्बल कश्यप ने उज्जैन शहर में अपना अंत तक फैलाना शुरू कर दिया दुर्लभ के नाम से छोटे बड़े व्यापारी दुर्लभ का नाम सुनते ही कामपने लगते थे। Kamala sohonie biography in hindi

जैसे-जसे दुर्लभ कश्यप अपना आंतक फैलाता गया वैसे वैसे उनके दुश्मन भी बढ़ने लगे दुर्बल के अंतर को देखकर पुलिस के सामने दुर्बल एक बहुत बड़ी चुनौती बन गई थी। उस समय उज्जैन शहर में आईपीएस सचिन अतुलकर जी एसपी थे। उन्होंने उज्जैन शहर में बढ़ते हैं अपराध को देखते हुए एक हिस्ट्रीशीटर लिस्ट जारी की उस लिस्ट में दुर्लभ कश्यप और उनके साथ के लोग शामिल थे।

2018 में पुलिस के द्वारा एक ऑपरेशन चलाया गया जिसमें दुर्बल कश्यप और उनके 23 साथी को गिरफ्तार कर दिया गया और उन्हें जेल में बंद कर दिया गया दुर्बल कश्यप की गैंग में कुछ नाबालिक होने की वजह से होने बाल सुधार के अंदर में भेज दिया गया।

इसी बीच एक बार दुर्बल का सब से मुलाकात करने के लिए आईपीएस सचिन अतुलकर मुलाकात करने के लिए गए उन्होंने दुर्लभ कश्यप को चेतावनी के तौर पर कहा कि

तूझे जेल में रहना होगा अगर तू जेल में रहेगा तो जिंदा रहेगा तूने अपनी कम उम्र मैं बहुत अधिक दुश्मन बना लिए हैं

दुर्बल करीब 1 साल तक जेल में रहा उसके बाद 2020 में वह जेल से बाहर आए और यही साल उनका लास्ट साल था। इसी साल उनकी हत्या हो गई

Durlabh Kashyap story, दुर्लभ कश्यप की कहानी

दुर्लभ कश्यप का जन्म 8 नवंबर 2000 को उज्जैन शहर उत्तर प्रदेश में हुआ दुर्लभ कैसे अपने माता पिता की इकलौती संतान थी दुर्लभ के पिता सरकारी स्कूल में टीचर है। Fukra Insaan biography in Hindi (Abhishek malhan)

दुर्लभ ने अपने 16 साल की उम्र में ही अपराध करना शुरू कर दिया इस कम उम्र में बच्चे अपना भविष्य बनाने के बारे में सोचते हैं लेकिन दुर्बल कश्यप को अपराधी बनने का ऐसी ऐसी धुन सवार हुई और वह अपराध के गलत रास्ते पर चलने लगा अपराध के रास्ते पर जाना तो आसान है लेकिन वापस आना बहुत कठिन होता है।

तभी तो कहते हैं अपराध की दुनिया बहुत छोटी होती है इसीलिए दुर्बल कश्यप अपनी छोटी सी उम्र में ही इस दुनिया को अलविदा कहना पड़ा यह बात लगभग लोग डाउन से पहले की है वह फरवरी महीने मैं जेल से छूटा और इंदौर रहने चला गया लॉकडाउन खत्म होते ही वह अपने परिवार के पास वापस आ गया।

1 दिन दुर्बल कश्यप और उनके कुछ स्कैन के साथी रफीगंज के हार फूल वाली गली में चाय की दुकान पर आते हैं दुर्बल का साग और उनके साथी वहां पर चाय पीने के लिए आए थे। वहां दुकानदार अमर उर्फ भूरा खुरमजारी चाकू दिखाकर उन्हें उन्हें धमकी देकर चले गए इसके बाद दोबारा दुर्बल का शौक और उनके साथी रात के करीब 1:00 बजे चाय की दुकान पर वापस आते हैं।

उस समय दुर्बल ने देखा कि उस दुकान के सामने शाहनवाज जो कि उज्जैन का एक लोकल गुड्डा था उस समय दोनों के बीच में थोड़ी कहासुनी हो गई उसी समय दुर्बल शाहनवाज को कट्टे निकालकर गोली मार देता है। गोली जाकर गर्दन पर जाकर लगी गोली लगने के बाद शाहनवाज वहीं पर गिर गया।

इतना कुछ होने के बाद शाहनवाज गैंग के लोग दुर्बल का गैर लेते हैं। यह सब देख दुर्बल के साथ ही भाग जाते हैं झगड़े में दुर्बल कश्यप की मौत हो जाती है उस समय दुर्बल पर 34 बार चाकू से हमला होता है 7 सितंबर 2020 को गैंगस्टर बोरवेल कश्यप का अंत हो जाता है उस समय उनकी उम्र 20 साल थी ‌

Durlabh Kashyap death story

दुर्लभ कश्यप ने अपनी छोटी सी उम्र में इतने ज्यादा दुश्मन बना लिए थे। जो उसे किसी भी वक्त मार सकते थे और ऐसा ही हुआ अपराध की दुनिया में आना तो आसान है लेकिन यहां से बाहर निकलना बहुत मुश्किल होता है यही हुआ दुर्बल कश्यप के साथ उन्होंने अपने जीवन में कई सारे दुश्मन बना लिए थे उसी में से एक था शाहनवाज उसी के हाथ से दुर्लभ दुर्बल की हत्या हो गई

दुर्लभ की हत्या 7 सितंबर 2020 को एक चाय की दुकान पर हुई थी मारने के लिए चाकू का इस्तेमाल किया गया मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दुर्लभ के शरीर पर 30 बार चाकू से वार किया। उस समय दुर्लभ के दोस्त भी नहीं काम आए जो उनके पास दोस्त उनके साथ थे वह भी वहां से भाग गए थे। और उसी दिन दुर्लभ के जीवन का अंत हो गया।

दुर्लभ कश्यप के बारे में कुछ रोचक तथ्य

  • दुर्लभ कश्यप कम उम्र में अपराध की दुनिया में पांव रख कर अपनी जान गवा दी।
  • दुर्लभ कश्यप के पिता एक टीचर है
  • दुर्लभ कश्यप अपनी गैंग को बढ़ाने के लिए और लोगों को धमकाने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया था।
  • दुर्लभ कश्यप का जन्म मध्य प्रदेश में 8 नवंबर 2000 को हुआ।
  • दुर्लभ 15,, 16 साल कि उम्र में बदमाशी करने लग गया था।
  • दुर्लभ कश्यप 18 साल की उम्र में अपने नाम के पीछे गैंगस्टर जोड़ दिया पुलिस उनसे हिस्ट्रीशीटर का नाम दे दिया।
  • दुर्लभ कश्यप का पहनावा भी अलग हुआं करता था वह गले में गमछा आंखों में काजल और माथे में लाल टिक्का रखता था।

Durlabh kashyap video

FAQ

दुर्लभ कश्यप किस दिन मरा था

7 सितंबर 2020 को एक चाय की दुकान पर चाकू से वार करके मार दिया गया

दुर्लभ कश्यप की माता का नाम

दुर्लभ कश्यप की माता का नाम पदमा था जो दुर्लभ कश्यप की मौत के कुछ महीनों बाद उनकी भी डेथ हो गई।

दुर्लभ के भाई का क्या नाम है

दुर्लभ कश्यप अपने माता-पिता के इकलौता था उनका कोई भाई नहीं था ना बहन थी

दुर्लभ कश्यप मर्डर के समय उनकी एज कितनी थी

दुर्लभ कश्यप मर्डर के समय 20 साल की आयु थी।

Sidhu Moose wala biography in Hindi

Elvish Yadav biography in Hindi

Taapsee Pannu biography in hindi

Oommen Chandy biography in hindi

Love Kataria biography in Hindi

Anushka sen biography in hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top